Head Office

SAMVET SIKHAR BUILDING RAJBANDHA MAIDAN, RAIPUR 492001 - CHHATTISGARH

tranding

दूसरी लहर के हमले की बढ़ती रफ्तार की चिंता

देश में कोरोना की दूसरी लहर से जुड़ी डराने वाली खबरों के बावजूद केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकारें गहरी नींद में हैं, पिछली बार इस तरह के आंकड़ों के बीच सख्त पाबंदियां लगा दी गयी थी, पूरा देश लाकडाउन की स्थिति में था, प्रश्न है कि इस बार सरकारें उदासीन क्यों

tranding

 भारत और रूस के संबंधों में अब पुरानी गर्माहट नहीं दिखाई दे रही है

उत्तर-दक्षिण महापथ यानि ईरान और मध्य एशिया होकर रूस तक आने-जाने का बरामदा और चेन्नई-व्लादिवस्तोक जलमार्ग तैयार करने में भी रूस ने रूचि दिखाई है। लावरोव ने भारत-रूस सामरिक और व्यापारिक सहयोग बढ़ाने के भी संकेत दिए हैं।

tranding

नेताओं का हृदय परिवर्तन सिर्फ सत्ता के लिए होता है, आदर्श उदाहरण बनने के लिए नहीं 

मूल्य आधारित राजनीति की बात करना आज थोथा आदर्शवाद है, लेकिन कहीं-न-कहीं तो हमें यह स्वीकारना ही होगा कि जिस तरह की अवसरवादी राजनीति हमारे लोकतंत्र पर हावी होती जा रही है, उससे देश के वास्तविक और व्यापक हितों पर विपरीत असर ही पड़ सकता है।

tranding

क्या खत्म हो जाएगा 'मसल्स पॉवरÓ वाली सियासत का दौर

मसल्स पॉवर के बल पर माननीय तक का सफर तय कर चुके मुख्तार अंसारी जिन्हें लोग 'राबिन हुडÓ तक की उपमा दिया करते थे,वह आज अलग-थलग पड़ गया है।

tranding

बंगाल की जंग में 'दीदीÓ शब्द महिला विरोधी होने का आरोप झेल रहा

दीदी, शब्द को किसी भी महिला को सम्मान देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। वही शब्द इन दिनों महिला विरोधी होने का आरोप झेल रहा है।

tranding

देश की सबसे बड़ी आंतरिक समस्या बने नक्सलियों को सबक सिखाने की जरूरत

हमें नक्सलवाद की असली वजहों को समझना होगा तभी इसका समाधान निकल सकेगा। हमें गरीबी भुखमरी और बेरोजगारी जैसे मसलों पर युद्धस्तर पर काम करना होगा। इसके साथ ही नक्सलियों के खिलाफ सशस्त्र कार्रवाई भी जारी रखनी होगी।

tranding

नक्सलवाद से निपटने के लिए सही रणनीति का होना बहुत जरूरी है

इस समय छत्तीसगढ़ के 14 जिलों में और देश के लगभग 50 अन्य जिलों में नक्सलियों का दबदबा है। ये वहां छापामारों को हथियार और प्रशिक्षण देते हैं और लोगों से पैसा भी उगाहते रहते हैं। ये नक्सलवादी छापामार सरकारी भवनों, बसों और नागरिकों पर सीधे हमले भी बोलते रहते

tranding

हर घड़ी स्वास्थ्य जागृति एवं क्रांति हो

ईक्कीसवीं सदी ने मनुष्य जाति को बहुत कुछ दिया हैद्ब्रअच्छा भी, बुरा भी। इनमें से उसकी एक देन हैद्ब्रकोविड-19, मानव इतिहास से इस सबसे बड़ी एवं भयावह महामारी ने मनुष्य जीवन को संकट में डाल दिया है, न केवल मनुष्य जीवन बल्कि आर्थिक, सामाजिक, राजनैतिक सभी क्षे

tranding

सिद्धांत और मूल्यहीन सत्ता की राजनीति कब तक ?

भारतीय राजनीति में चुनाव का मौसम सबसे ज्यादा ठगाई, गुमराह एवं सपने दिखाने का मौसम होता है, भले ही उस समय असल में कोई भी मौसम क्यों न चल रहा हो। बिन मौसम  राजनेता अपनी निष्ठा बदलने की वर्षा करते हैं तो राजनीतिक दल चुनावी वायदों के जरिये स्वर्ग को ही धरती प

tranding

रजनीकांत का प्रकाश सूर्य बनता गया

करीब पांच दशकों से सिनेमा में सक्रिय एवं सुुविख्यात फिल्मी अभिनेता रजनीकांत को दादा साहब फाल्के अवॉर्ड से सम्मानित किये जाने की केंद्र सरकार की घोषणा को भले ही राजनीतिक रंग देने का प्रयत्न हो रहा है, भले ही इस अवार्ड की घोषणा को तमिलनाडू के विधानसभा चुनाव